HDD और SSD में क्या अंतर है HDD vs SSD which is Better in hindi

दोस्तों इस Article में आज HDD vs SSD which is Better in Hindi इनके बीच में अंतर बताएंगे!  हालांकि HDD और SSD दोनो ही storage device है,  लेकिन ये अपने data को अलग अलग तरीके से store करते है.  इन दोनो के Advantages और Disadvantages भी है क्या है और अपनी requirement और budget के हिसाब से सही drive की choice कर सकते हैं.  

HDD Vs SSD में क्या अंतर है HDD vs SSD which is Better in hindi

SSD क्या है? What is SSD in Hindi?

SSD means Solid State drive जो कि computers में use होने वाली storage device की एक New generation हैं.  इसमें flash based memory का use किया जाता हैं ,जो कि traditional mechanical Hard disk की तुलना में बहुत तेज होती है.  और ये storage device डेटा को Semiconductor cells में Store करता हैं.  

HDD vs SSD which is Better in hindi

SSD कैसे काम करता है?  How SSD works?

Basically SSD storage device में कोई moving parts नहीं होता है और इसे quickly access किया जा सकता है.  इसमें data को एक microchips में store किया जाता है जो data की read and write speed को बहुत ही  fast बनाता है.  SSD size की तुलना में HDD से  छोटी होती है, जिससे इसको आसानी से motherboard में install किया जा सकता है.  आप यह कह सकते है कि यह USB memory stick का advance और refined form है.    

SSD flash-based मेमोरी पर work करता है, जिसमें से NOR और NAND दो सबसे popular Flash types हैं.  Basically SSD, NAND flash memory का use करता हैं because यह Data Writing में तेज़ होते हैं और NOR size की तुलना में छोटे होते हैं.  NAND एक non -volatile flash है ,जो disk के बंद होने पर भी data को stored रखता है.  

जबकि देखा जाए HDD में data को read और write करने  के लिए एक Mechanical arm होती है, लेकिन SSD में डेटा को read और write करने के लिए एक processor (controller)  का use करता हैं.  

SSD के डेटा को read और write की Speed , इसके overall performance के साथ,इसके controller  द्वारा निर्धारित करता है.  

SSD के प्रकार -Types of SSD

देखा जाए तो आजकल almost सभी laptops में SSD होती हैं.  आपने PCIe, NVME, SATA और M.2 ये सभी terms तो सुने ही होंगे जो आप अपने laptop के SSD specifications में देख सकते है.   

SATA SSD

SATA SSD, SSD की first generation  है.   जिसकी  reading speed लगभग  570MB per second तक होती है. जो  first generation की SSD से  traditional Hard disk की तुलना में पांच गुना तेज होती है.   इसे Specially स्टोरेज के लिए डिज़ाइन किया गया था. ये जो SSD हैं वो आपके laptop को within 15sec. के अंदर start कर देती है और साथ ही heavy file’s या software, game को कुछ ही minutes के अंदर load कर देती है.  

NVMe SSD

NVMe specially Flash और New generation के SSD के लिए बनाया गया हैं, जो एक बढ़िया performance देता है और साथ ही highest response time देता है .  और ये आपके computer और storage card से डेटा को High speed से transfer करने के लिए PCIe SSD के साथ अच्छी तरह से काम करता है.

ये almost 3,000 से 3,500 Mbps या 3 से 3.5 GB की High speed पर डेटा को transfer करती है. जिससे आप लगभग 15 second में 30gb file को अपने कंप्यूटर में transfer  कर सकते हैं.

M.2 SSD

M.2 SSD अपने flat और compact card format के कारण mobile devices और thin laptops में सबसे ज्यादा use की जाने वाली एक small rectangular  रैम स्टिक है.  हालांकि,इसका use computer पर तब  किया जा सकता है जब motherboard में M.2 slot Available हो.  यह sata SSD की तुलना में fast है , इसलिए यह costly हैं और 2 terabyte डेटा तक store कर सकता है.  M.2 SSD के सबसे small sizes 2242,2260,2280, और 22110 हैं.  ये numbers SSD के size को width और length से indicate है.

PCIe

Motherboard  पर video card को PCle connector द्वारा भी जोड़ा जा सकता है. जब एक NVMe SSD इससे जुडी होती है ,तो यह maximum bandwidth से लैस होता है,और आप NVMe SSD से maximum speed प्राप्त कर सकते है. और इसमें 50gb या इससे भी ज्यादा बड़ी files के साथ काम करने पर आपको speed में बहुत बड़ा  difference दिखाई देगा.  like बड़े बड़े  software ,या  game को  Start करना उतना ही तेज है जितना की traditional SSD के साथ speed होती है . इसका फर्क हमको तब दीखता है जब हम ssd installed pc  में किसी बड़े गेम या application ko installed karte hai to uske startup time me uski processing me humko bahut jyda farq dikhai deta hai. isliye aaj kal log apne operating system ko ssd me rakhte hai just because ssd bootup time ko fast kar deta hai but saath hi saath ye hamare system ki overall performance ko badha deta hai

Windows और game launch traditional SSD की तरह तेज है.

HDD vs SSD which is Better in hindi

HDD क्या है ? What is HDD in Hindi?

Hard disk एक electro mechanical डेटा storage device है जो disk या platters की सहायता से डिजिटल information को read करके उसे store करता है यानी हमारे digital data को store करता है और उसे use करने के लिए safe रखता है उसे hard disk कहते है .    दुनिया में सबसे पहली Hard disk 1956 में IBM company द्वारा बनाई गई थी.

HDD कैसे काम करता है

Hard disk (HDD) data को store करने के लिए एक पुरानी technology हो गई है . यदि आप जानते है की पुराने record players कैसे काम करती थी तो HDD भी थोड़ा इसी के समान है .  HDD एक electro-mechanical , volatile storage device है जिसमे कई platters (disks) होते है जो एक spindle (central axis) के चारो ओर घूमते हैं. इसमें एक Mechanical arm है जो Data को read ओर write करने में capable करता है. 

अब इसे सीधी language में कहू तो इसमें कई moving parts होते हैं जिसमे से दो main parts होते हैं platter और read write head, platter एक disk होती हैं और head एक moving part होता है जो की platter के surface के ऊपर movement करके data को read write करता है. ये platters 5,400 से 7,200 per minute की speed से rotate करता है.

इसमें, दो popular HDD size है जिसमे से 2.5-इंच HDD जो Laptop में उपयोग किया जाता है और 3.5 इंच HDD desktop में cast किया जाता है। SSD की तुलना में HDD बहुत पुराना और लंबे समय तक चला है। और आप इन्हे बहुत सारे different electronic device  for example Desktop, Laptop, game consoles, mobile phones, और tablet में पा सकते है .

HDD Vs SSD में क्या अंतर है? (HDD vs SSD which is Better in hindi)

Properties SSD HDD
Full form solid State drive Hard disk drive
Movement solid State drive में कोई moving part नहीं होता हैं। Hard disk में moving mechanical parts होते हैं
Latency SSD में low latency है। HDD में high latency है।
Reliability SSD बहुत ज्यादा reliable है । HDD इसमें mechanical parts होने के कारण damage होने की possibility होती हैं।
Cost SSD costly (महंगा) होता है। HDD सस्ता ( cheap) होता है
Data transfer SSD में data transfer random access होता है HDD में data transfer sequential होता हैं
Noise SSD noise produce नहीं करता HDD में mechanical movements के कारण noise produce करता है।
Weight SSD drive हल्की lightweight होता है। HDD , SSD के तुलना में भारी ( heavy) होता है because इसमें mechanical parts, rotating disk, spindle और motor होते हैं
Size SSD 2.5inch,1.8 और 1.0 में available हैं जो computer specially desktop या sever में HDD में usually desktop और laptop के लिए 3.5 और 2.5 के size होते हैं।

SSD advantages

  • HDD की तुलना में कम बिजली का use करती हैं।
  • इसमें कोई moving parts नहीं होते है, इसलिए SSD running time में कोई noise या vibrate नहीं करता है।

SSD disadvantages

  • SSD बहुत ज्यादा expensive होते हैं।
  • इसमें में data recovery costly और complex है।
  • SSD के लिए available storage unit HDD से कम है।

HDD advantages

  • HDD सस्ता है user आसानी से खरीद सकता है।
  • Large storage capacity provide करता है।
  • ये text documents like images, video ,files, जैसे data को store कर सकता है।

HDD disadvantages

  • यादि हार्ड डिस्क crash हो जाती है,तो computer work नहीं करेगा।
  • Disk rotation के कारण ,data को access करने में time लगता है।
  • SSD की तुलना में बिजली ज्यादा use करती है।
  • किसी भी data या file open और boot time में बहुत  time लगता है।

 

Conclusion:

अगर आप अपने computer के experience को fast बनाना चाहते है, जिसमें आपको 15 second से भी कम boot time, programs को तेजी से load करना,और अपने gaming experience अच्छा चाहिए तो, आप SSD use कर सकते है. अगर आपके पास बहुत सारे digital games या photos है और आप चाहते है ज्यादा storage space हो तो फिर आप HDD को चुन सकते है आप इस article में समझ गए होंगे की HDD vs SSD which is Better in hindi.

ssd full form in hindi

ssd का full form Subscriber Identification Module Card हैं.

SSD kya hai

SSD “Solid State drive” है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *